शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना

5

 छत्तीसगढ़ का वनोपज की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण स्थान है । तेंदू पत्ता, वनोपज में से एक है जिसका बहुतायत रूप से छत्तीसगढ़ में संग्रह होता है । लगभग 12.5 लाख लोग केवल छत्तीसगढ़ में तेंदू पत्ता संग्रह से जुड़े हुए हैं । 5 अगस्त 2020 को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने शहीद महेंद्र कर्मा की जयंती की अवसर पर ” शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना” का शुभारंभ किया ।

शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना

क्या है शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना

यह एक तरह की योजना है जिसके अनुसार तेंदू पत्ता संग्रह से जुड़े  परिवार के मुखिया (आयु 59 वर्ष के अंदर) की अगर उसकी मृत्यु हो जाती है अथवा किसी दुर्घटना के कारण घायल हो जाता है तो उसे अथवा उसके परिजनों को सहायता राशि प्रदान की जाएगी । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शहीद महेंद्र कर्मा जी के जयंती में इसका शुभारंभ किया था । इस योजना का कार्यान्वयन वन विभाग और छत्तीसगढ़ राज्य लघुवनोपाज सहकारी संद्य द्वारा किया जाएगा । सहायता राशि समस्त निरीक्षण के पश्चात 100 दिनों के अंदर मुखिया अथवा परिजनों को उपलब्ध करा दी जाएगी ।

इस योजना के तहत सहायता राशि प्रदान करने के लिए मुख्य के आयु के आधार पर दो भागों में योजना का परिचय दिया है । जो क्रमशः (1) मुखिया जिसकी आयु 50 वर्ष के अंदर हो, (2) मुखिया जिसकी आयु 50-59 वर्ष हो, इसका कारण यह है कि सहायता राशि मुखिया के उम्र के अनुसार दी जाएगी ।

(1) मुखिया जिसकी आयु 50 वर्ष के अंदर हो

इन्हें निम्न स्थित पर निम्न सहायता राशि प्रदान की जाएगी – 

सामान्य मृत्यु – 2 लाख रुपए

दुर्घटना मृत्यु – 4 लाख रुपए

पूर्ण विकलांगता – 2 लाख रूपए

आंशिक विकलांगता – 1 लाख रूपए

(2) मुखिया जिसकी आयु 50-59 वर्ष हो

इन्हें निम्न स्थित पर निम्न सहायता राशि प्रदान की जाएगी – 

सामान्य मृत्यु – 30,000 रुपए

दुर्घटना मृत्यु – 75,000 रुपए

पूर्ण विकलांगता – 75,000 रुपए

आंशिक विकलांगता – 37,000 रुपए

नोट – इस योजना का लाभ लेने के लिए संग्राहक के परिजनों को बीमा की भांति कोई राशि देनी नहीं पड़ेगी । 

इस योजना की विशेषताएं –

1. इस योजना में बीमा की भांति पहले से मासिक या वार्षिक राशि जमा करनी नहीं पड़ेगी । यह एक मुक्त योजना है ।

2. इस योजना के तहत अगर मुखिया को कुछ होता है तो उसकी सहायता राशि परिजनों को मिलेगी ।

3. सहायता राशि प्रदान करने में ज्यादा विलम्ब नहीं होगी ।

4. इस योजना का लाभ 59 वर्ष की आयु तक की जा सकेगी ।

जानकारी स्रोत –

1. सहायता राशि – https://youtu.be/KkBIEun5PxU

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here