सहजन (मुनगा) – पोषक तत्वों से भरपूर लाभदायक पौधा

20

 सहजन या मुनगा एक वृक्ष का नाम है जिसकी फली और पत्तियों का भारत में भोजन के रूप में प्रयोग में लाया जाता है ।  इसका फल एवं पत्तियां कई प्रकार के पोषक तत्वों एवं विटामिन्स से परिपूर्ण होता है इसी कारण से चिकित्सकों द्वारा इसे खाने का सलाह भी दिया जाता है ।

वानस्पतिक नाम (Scientific Name) – मोरिंगा ओलिफेरा” (Moringa oleifera)

सहजन का वृक्ष बहुवर्षीय वृक्ष होता है जिसमें मु्ख्यतः वर्ष में एक बार फल लगता है । दक्षिण भारत में यह सालभर लगती है । अधिकतर फल सर्दियों के महीनों में लगती है मगर कुछ हाइब्रिड किस्मों का विकास भी किया जा चुका है जिससे फल अन्य महीनों में भी उत्पादन की जाती है । इसका फल लंबी और बेलनाकार होती है । इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन ए, सी और बी कॉम्पलैक्स आदि की प्रचुर मात्रा पाई जाती है जो की एक पौष्टिक भोजन के आवश्यक तत्व हैं ।

इसकी खेती भी की जाती है तथा इसका बहुत ज्यादा उत्पादन किया जाता है ।  इसके खेती के लिए विशेष किस्म के प्रजाति

अन्य नाम

इसको अलग – अलग जगहों में अलग – अलग नामों से जाना जाता है । हिंदी में इसे – सहजन, मुनगा, सहजना, सुजना तथा सेंजन आदि नामों से जाना जाता है ।

पोषक तत्व

इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन ए, सी और बी कॉम्पलैक्स जैसे आवश्यक पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं इसी कारण से इसे पोषक तत्व तथा औषधीय गुणों से परिपूर्ण कहा जाता है । इसमें 92 तरह के मल्टीविटामिन्स, 46 तरह के एंटी आक्सीडेंट गुण तथा 18 प्रकार के अमीनो एसिड पाए जाते हैं ।

ये केवल मनुष्यों के लिए लाभदायक नहीं बल्कि मवेशियों के लिए भी लाभदायक माना जाता है ।  इसके पत्तियों को मवेशियों को चारे के रूप में भी दिया जाता है ऐसा कहा जाता है कि दुग्ध देने वाले पशुओं को इसके पत्तियों को देने से वे अधिक मात्रा में दुग्ध देती हैं । इसके अलावा खेती योग्य भूमि की उपजाऊपन बढ़ाने के लिए इसके पत्तियों के घोल वाले पानी को भूमि में छिड़का जाता है ।

 

∆ भारतीय फल अमरूद (Guava in hindi)
∆ सागौन का वृक्ष
∆ तुलसी पौधा [औषधीय गुण एवं महत्व]

∆ कुंदरु | तिंडोरा | तेंडली – एक प्रकार की भारतीय सब्जी
∆ धान – भारत के प्रमुख भोजन का स्त्रोत

∆ परवल [ वैज्ञानिक नाम, उत्पादन, औषधीय महत्व, फायदे]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here