IUCN ने विलुप्ति के कगार पर लाल चंदन को Red list किया

7

 News/खबर : IUCN (International Union for Conservation of Nature) ने भारत की एक बेशकीमती लकड़ी जिसका भारत में गैरकानूनी रूप से सबसे ज्यादा काला व्यापार होता है जोकि लाल चंदन है उसको एक बार फिर से खतरे की घंटी में ला दी है । कहने का तात्पर्य है की लाल चंदन एक endanger species है मतलब की यह विलुप्ति के कगार पर है । 2018 में इसे threaten species घोषित किया गया था और 2022 में दोबारा से इस species को खतरे में बताया ।

Endanger Species किसे कहा जाता है?

वह जीव अथवा पादप प्रजाति जो प्राकृतिक अथवा मानव कृतियों के कारण से विलुप्ति के कगार में है और यदि सही समय में उनका संरक्षण नही किया गया तो वे इस दुनिया से पूरी तरह विलुप्त हो जायेंगे ऐसे प्रजातियों को Endanger species कहा जाता है ।

उदाहरण – बंगाल टाइगर, लाल पांडा आदि

मुख्य बिंदु –

1. IUCN का full form क्या है – International Union for Conservation of Nature

2. इससे पहले लाल चंदन को कब threaten की कगार पर रखा गया था – 2018 में

3. रक्त चंदन/लाल चंदन के वृक्ष कौन कौन से राज्य में पाए जाते हैं – तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश

4. हाल ही में लाल चंदन तस्करी से संबंधित कौन से फिल्म आई है – पुष्पा 

लाल चंदन के विलुप्ति का मुख्य कारण

लाल चंदन एक कीमती लकड़ी है जिसकी बाजार में मांग बहुत अधिक है इसलिए लोग इसकी काला बाजारी करते हैं और गैरकानूनी रूप से इसका कटाई करके इसका तस्करी करते हैं इसी कारण से आज लाल चंदन की प्रजाति खतरे के कगार पर है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here