DoT ने 6जी तकनीक पर 6 टास्क फोर्स का गठन किया

6

 खबर (News) –  भारत में अभी 5जी नेटवर्क लॉन्च नही हुआ है और 6जी तकनीक के विकास के लिए 6 टास्क फोर्स का गठन किया जा चुका है । बताया जा रहा है की यह 6जी तकनीक 5जी के मुकाबले 50 गुना ज्यादा इंटरनेट स्पीड देगा जिससे भारत में इंटरनेट के क्षेत्र में अच्छा विकास होगा । 6G तकनीक पर 6 टास्क फोर्स का गठन प्रौद्योगिक विकास को ध्यान में रखकर किया गया है । संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग (DoT) ने यह 6 टास्क फोर्स का गठन प्रौद्योगिकी नवाचार समूह (TIG) के अंतर्गत  किया है ।

6G क्या है ?

6G का फुल फॉर्म 6वां जेनेरेशन है (6th Generation) है जो की एक वायरलेस नेटवर्क तकनीक है । यह एक उच्च फ्रीक्वेंसी वाली वायरलेस नेटवर्क होने वाली है । अभी भारत में 5G लॉन्च नही हुई है लेकिन दिसंबर 2021 से ही 6G तकनीक पर कार्य सुरु कर दिया गया है । यह इंटरनेट की दृष्टि से तथा प्रौद्योगिकी को देखते हुए अत्यंत महत्वपूर्ण साबित हो सकता है । 6G तकनीक के विकास के लिए संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग (DoT) ने यह 6 टास्क फोर्स का गठन प्रौद्योगिकी नवाचार समूह (TIG) के अंतर्गत  किया है । अभी इसके बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नही है लेकिन 2030 तक इसका लक्ष्य रखा गया है ऐसा जानने को मिला है ।

मुख्य बिंदु –

• DoT Full form – Department of Telecommunications (दूरसंचार विभाग )

• DoT (संचार मंत्रालय के तहत दूरसंचार विभाग) ने 6G तकनीक पर 6 टास्क फोर्स का गठन किया ।

• TIG Full Form – Technology Innovation Group (TIG) 

• TIG Full Form in hindi – प्रौद्योगिकी नवाचार समूह

• 6 टास्क फोर्स –

1. अगली पीढ़ी के नेटवर्क के लिए बहु – मंच पर टास्क फोर्स- भास्कर राममूर्ति , निदेशक , भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ( IIT ) – चेन्नई 

2. स्पेक्ट्रम नीति पर टास्क फोर्स- अभय करंदीकर , निदेशक , IIT- कानपुर 

3. मल्टी डिसिप्लिनरी इनोवेटिव सॉल्यूशंस एंड डिवाइसेस – पर टास्क फोर्स- भारद्वाज अमृतुर , निदेशक , भारतीय विज्ञान संस्थान ( IISC ) बैंगलोर 

4. डिवाइसेज पर टास्क फोर्स- किरण कुमार कुची , निदेशक , IIT- हैदराबाद 

5. अनुसंधान और विकास के वित्तपोषण के लिए टास्क फोर्स ग्रुप – अशोक कुमार तिवारी , सदस्य ( प्रौद्योगिकी ) , डिजिटल संचार आयोग ( DCC ) – 

6.  अंतर्राष्ट्रीय मानकों पर टास्क फोर्स – NG सुब्रमण्यम , दूरसंचार मानक विकास सोसायटी , भारत ( TSDSI ) के अध्यक्ष

महत्व – 

• प्रौद्योगिकी क्षेत्र में लाभ होगा ।

• इंटरनेट स्पीड में बढ़ोतरी होगी ।

• वैज्ञानिकों को अंतरिक्ष संबंधित रिसर्च में लाभ होने की संभावना ।

• शोध एवं अनुसंधान कार्य में तेज इंटरनेट की वजह से विकास होगा । 

• देश के डिजिटलीकरण में लाभ होगा । कई डिजिटल कार्य तेज गति से होंगे ।

• तेज इंटरनेट से बैंकिंग कार्य भी तेज होगा ।

संचार मंत्रालय

 • केंद्रीय मंत्री – अश्विन वैष्णव ( ओडिशा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here