कोरोना वायरस का कम्युनिटी स्प्रेड क्या है

7
Corona

वर्तमान में कोरोना वायरस से पूरा विश्व प्रभावित है । वैज्ञानिक लगातार इसके वैक्सीन के खोज में लगे हुए हैं और लोगों को विभिन्न शर्तों एवं नियमों के साथ घरों से निकलने की अनुमति दी गई है । विश्व में सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका है और उसके पश्चात अगला सबसे ज्यादा प्रभावित देश भारत ही है ।
भारत एवं अमेरिका में कोरोना बहुत ज्यादा फैल गई है । भारत में कोरोनावायरस का फैलाव अलग अलग क्षेत्रों में अलग – अलग है । जब किसी को कोरोना होता है और इस बात की जानकारी रहती है कि यह कोरोना किसी सक्रमित व्यक्ति के संपर्क से आया है ऐसा फैलाव ज्यादा खतरनाक नहीं है । इसे ट्रैक करके रोका जा सकता है । परन्तु जब किसी क्षेत्र में तेजी से वायरस फैलती है और इस बात की कोई जानकारी नहीं होता की वायरस का फैलाव किस व्यक्ति से हुआ है अथवा कोरोना वायरस का फैलाव बहुत तेजी से होता है और किसको कहां अथवा किस व्यक्ति के संपर्क से वायरस हुआ है ज्ञात नहीं होता तो उसे कम्युनिटी स्प्रेड अथवा कम्युनिटी ट्रांसमिशन कहते हैं ।
इस बात को हम एक सामान्य उदाहरण द्वारा समझ सकते हैं मान लो ए से लेकर जेड तक नाम वाले व्यक्ति हैं और ए, बी, सी एवं डी को कोरोना वायरस है । इसमें से बी, सी एवं डी पहले से संक्रमित ए नाम के व्यक्ति में सीधे संपर्क में थे जिस कारण से बी, सी एवं डी नाम के व्यक्ति को कोरोना वायरस हो गया है । ऐसी स्थिति में उन लोगों को आइसोलेशन में रखकर इसके स्प्रेड अथवा फैलाव को नियंत्रित किया जा सकता है । ये सामान्य प्रकार का फैलाव है ।
मगर यदि किसी क्षेत्र में अचानक से एक्स, वाई, एम, तथा एन चारों को कोरोना हो गया लेकिन ये कभी एक दूसरे से नहीं मिले ऐसे में सवाल यह बनती है कि इन चारों को जिससे कोरोना फैला है वो कौन है । इस तरह अधिक मात्रा अथवा संख्या में जब कोरोना वायरस का फैलाव होता है तब इसे कम्युनिटी स्प्रेड अवथा सामाजिक फैलाव कह सकते हैं । इसमें उस व्यक्ति का पता नहीं होता जिससे बाकी व्यक्तियों को कोरोना वायरस फैला है । ऐसे स्थिति में इसे नियंत्रण करना बहुत मुश्किल होता है तथा इससे कोरोना के बहुत सारे लोगों को फैलने का डर रहता है । 
भारत तथा अमेरिका जैसे देशों के कई शहरों में यह कम्युनिटी स्प्रेड स्टेज में फ़ैल गया है । कुछ जगहों में यह नियंत्रित है अर्थात फैलने का स्त्रोत पता है जिस कारण से इसे ज्यादा फैलाने से रोका जा सकता है ।
भारत की राजधानी दिल्ली में नवंबर माह तक तेजी से कोरोना फैल रही है ऐसे में कई लोगों को यह सवाल था कि क्या दिल्ली सामाजिक फैलाव (community spread) स्तर तक पहुंच गया है ? स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि ” अभी कोरोना का फैलाव दिल्ली में बहुत बढ़ गया है इसलिए सभी व्यक्ति को यह मान लेना चाहिए कि दिल्ली में कोरोना कम्युनिटी स्प्रेड स्तर तक पहुंच गया है ।” उन्होंने इस बात को संकेत तो दिया था कि दिल्ली में कोरोना कम्युनिटी स्प्रेड स्तर तक फ़ैल गया है मगर उन्होंने अपने आपको कम्युनिटी स्प्रेड की परिभाषा देने के लिए सही नहीं बताया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here