देश का पहला एलपीजी युक्त और धुआं मुक्त राज्य

 देश का पहला एलपीजी युक्त और धुआं मुक्त राज्य : प्रत्येक देश कोशिश करता है की जनता ज्यादा से ज्यादा नवीनीकरण ऊर्जा स्त्रोत को अपनाए और जब किसी देश का राज्य ऐसा करने में सफल हो जाता है तो यह बहुत ही खुशी की बात है । इससे यह साबित तो होता है की लोग शिक्षित हैं और नवीनीकरण ऊर्जा स्त्रोत के उपयोग को समझते हैं साथ ही साथ यह दूसरो को भी प्रेरित करता है की वे भी नवीनीकरण ऊर्जा स्त्रोत को अपनाएं । 

एलपीजी और चूल्हा में अगर तुलना करें तो चूल्हा से प्रदूषण एलपीजी को तुलना में कई ज्यादा होता है । चूल्हा से होने वाली प्रदूषण को एलपीजी लगभग 95% तक कम कर देता है क्योंकि इसमें उतना धुंआ नही निकलता जितना चूल्हा से निकलता है ।

हिमाचल प्रदेश देश का पहला एलपीजी युक्त और धुआं मुक्त राज्य बन गया है।

केंद्र सरकार की उज्ज्वला और प्रदेश सरकार की गृहिणी सुविधा योजना के बदौलत हिमाचल प्रदेश ने यह उपलब्धि हासिल की है । लकड़ी वाले चूल्हे से तीन तरह का नुकसान होता था अथवा इसकी तीन प्रमुख कमियां थी (1) प्रदूषण (2) वृक्ष हानि तथा (3) स्वास्थ्य संबंधित परेशानियां इन सभी समस्याओं से निजात पाने के लिए केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्यों की मदद से इस योजना का आरंभ किया था ।

हिमाचल प्रदेश में अबतक केंद्र सरकार की ओर से उज्ज्वला योजना के तहत 21.81 करोड़ रुपये की लागत से 1.36 लाख नि:शुल्क घरेलू रसोई कनेक्शन दिए गए हैं तथा राज्य सरकार की गृहिणी सुविधा योजना के तहत करीब 120 करोड़ रुपये खर्च कर 3.23 लाख गैस कनेक्शन लगाया गया है । इस तरह कुल 4.59 लाख गैस कनेक्शन राज्य और केंद्र सरकार की मदद से लगी है । इस योजना के तहत हिमाचल प्रदेश भारत का पहला चूल्हा मुक्त तथा एलपीजी युक्त राज्य बन गया है ।

मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना की शुरूआत 26 मई, 2018 को राज्य सरकार द्वारा की गई थी जिसका उद्देश्य निशुल्क गैस कनेक्शन लगवाना था । यह योजना उन लोगों के लिए ज्यादा मददगार थी जो केंद्र सरकार के उज्ज्वला योजना का लाभ नहीं ले पा रहे । 

प्र. 1 देश का पहला एलपीजी युक्त और धुआं मुक्त राज्य कौन सा है ?

उत्तर – हिमांचल प्रदेश 

प्र. 2 हिमांचल प्रदेश में गैस कनेक्शन से संबंधित कौन – कौन सी योजना चल रही थी ?

उत्तर – उज्जवला योजना केंद्र सरकार के द्वारा तथा मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना राज्य सरकार के द्वारा ।

प्र. 3 हिमाचल प्रदेश को कब एलपीजी युक्त और धुआं मुक्त राज्य घोषित किया गया?

उत्तर – 2 जनवरी 2022

Leave a Comment